Pinjara Khubsurti Ka 24th March 2021 Written Episode Update: Mayura fulfills Tara’s wish with Nisha’s help – Telly Updates


पिंजरा ख़ूबसूरत का 24 मार्च 2021 लिखित एपिसोड, TellyUpdates.com पर लिखित अपडेट

इस एपिसोड की शुरुआत मंजरी ने तारा से उसके पास आने के लिए कहा, क्योंकि वह अपने बालों में कंघी करना चाहती है। तारा मना कर देती है और कहती है कि वह अच्छा हेयरस्टाइल चाहती है। मयूरा कहती है कि वह अच्छी हेयर स्टाइल करना जानती है। मंजरी ने मना कर दिया। तारा ने जोर दिया। मयूरा उसे अपनी इच्छा बताने के लिए कहती है और कहती है कि आपकी माई आपकी सभी इच्छाओं को पूरा करेगी। तारा कहती है कि मेरी एक ही इच्छा है कि मां मेरे पास आए, लेकिन पापा बताते हैं कि मेरी मां कभी मेरे पास नहीं आएगी। मयूरा कहती है कि आपकी इच्छा पूरी हो जाएगी और उसे अभी के लिए कुछ और कामना करने के लिए कहेंगी। तारा पूछती है कि क्या परी माँ मुझे दोस्त दे सकती हैं क्योंकि मेरा कोई दोस्त नहीं है। मयूरा बालों को काटती है और कहती है कि आप एक खूबसूरत राजकुमारी की तरह दिख रही हैं। ओमकार आता है और उन्हें गले मिलते हुए देखता है। उनका कहना है कि तारा ने मयूरा के साथ इतनी अच्छी तरह से शादी कर ली है। वह तारा की रिपोर्ट लेने जाता है।

मयूरा तारा के साथ खेलने की कोशिश करती है, लेकिन मंजरी ने उसे उसके साथ खेलने से मना कर दिया। मयूरा शंकर को उल्टी गिनती दिखाता है। दरवाजे की घंटी बज रही है। निशा वहाँ आती है एक स्कूल टीचर की अनुशासनहीनता। वह बताती है कि रास्ते में उसकी बस रुकी और आपके घर के बाहर शराब की बोतलें फेंकी गईं। वह पूछती है कि बच्चों के साथ क्या करना है। शंकर का कहना है कि ओमकार अभी यहां नहीं है, अगर वह यहां होता तो बच्चों को अंदर आने देता। निशा सीटी बजाती है और बच्चे वहाँ आते हैं। तारा डर जाती है। मयूरा तारा को बच्चों के साथ खेलने के लिए कहती है। बच्चे तारा को उनके साथ खेलने के लिए कहते हैं। तारा ने खेलना शुरू कर दिया। लड़का कहता है कि तारा गेंद को पकड़ ले। ओमकार वहां आता है और पूछता है कि क्या हो रहा है? मंजरी कहती है कि मैंने कुछ नहीं किया। वह मयूरा पर आरोप लगाती है और कहती है कि उसने बच्चों को अंदर आने दिया। ओमकार कहते हैं कि डॉ। खन्ना आपकी बहुत प्रशंसा कर रहे थे। वह मार्बल्स पर कदम रखता है और नीचे गिर जाता है। मयूरा को लगता है कि आज उसकी बेटी की मुस्कान से मुक्ति मिल गई। ओमकार बच्चों को बाहर निकालने के लिए गार्ड से पूछता है। निशा बच्चों को बाहर निकालने के लिए कहती है। वो जातें हैं। तारा, ओंकार से कहती है कि वह उनके साथ खेलना चाहती है। ओमकार उससे पूछता है कि उसने उसके घर के साथ क्या किया है। मयूरा ने उसे गले लगाया। मंजरी और ओमकार उसकी तरफ देखते हैं। मयूरा कहती है कि आपने अपनी बेटी की खुशी छीन ली है, उसकी क्या गलती है।

ओमकार ने मयूरा को याद करते हुए बताया कि वह उसकी सुंदरता और अब बच्चे के बारे में सोच रहा था। वह कहता है कि वह सही थी। मयूरा कमरे में आती है और तारा के साथ खेलती है। वह तारा का पासपोर्ट ढूंढती है और उसे ले जाती है। मंजरी वहाँ आती है और तारा को भेजती है। वह कहती है कि वह उसे सबक सिखाएगी और उस पर हाथ उठाएगी, लेकिन मयूरा उसे रोकती है और कहती है कि ऐसा करने की हिम्मत मत करो। वह उससे माफी मांगता है और चला जाता है। मंजरी सोचती है कि वह गिलहरी की तरह रंग बदलती है। मयूरा घर से बाहर आती है और अखिलेश को तारा का पासपोर्ट देती है। अखिलेश उसे भावनाओं में बहने के लिए नहीं कहते। वह कहता है कि कल उसे बाहर ले जाओ। मयूरा हाँ कहती है। ज्ााती है। ओमकार अपनी कार में तारा को बाहर ले जाता है। शंकर का कहना है कि ओमकार उसे वह नहीं देता जो वह चाहती है। मयूरा कहती है कि पिंजरा हमेशा पिंजरा होता है, भले ही वह सोने का ही क्यों न हो। ओंकार मंजरी के बारे में पूछता है। शंकर का कहना है कि वह बाहर गई है। मयूरा उदास हो जाती है। ओमकार वापस आता है और बताता है कि तारा चाहता है कि दादू और नर्स उनके साथ आए। शंकर का कहना है कि वह नहीं जा सकता। मयूरा ने मना कर दिया। तारा ने जोर दिया। मयूरा सोचती है कि उसे तारा के साथ बिताने का मौका मिला।

कोई Precap नहीं।

क्रेडिट को अपडेट करें: एच हसन

Leave a Comment